तो ये है मध्यप्रदेश की इस बार कोरोना से लड़ाई की नीति, प्रदेश में नहीं फैलेगा कोरोना ?

Lokdesh Desk

 कोरोना के नए वेरिएंट से मध्यप्रदेश पूरी तरह अलर्ट है।  भारत में इस नए नवेले वेरिएंट की एंट्री हो चुकी है।  विश्व स्वस्थ्य संगठन ने कोरोना के इस नए रूप को, डेल्टा वेरिएंट से भी अधिक खतरनाक बताया है।  WHO का कहना है कि अगर ये वायरस फैलता है तो कोरोना की दूसरी लहर से भी अधिक तबाही मचा सकता है।  जिसके चलते सरकार और स्वास्थ्य विभाग का अमला होशों हवास में चौकन्ना है।  वही मध्यप्रदेश ने कोरोना से जंग लड़ने की रणनीति बदल ली है। इस बार मध्यप्रदेश सरकार संक्रमण को जहाँ के तहाँ खत्म कर देने की व्यावस्था बनाये हुए है।  मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि इस बार संक्रमण को फैलने नहीं देंगे।  


संक्रमित को नहीं रहने देंगे घर में 
हम 2 साल से कोरोना महामारी को झेल रहे हैं।  अब तक जो भी व्यक्ति मामूली संक्रमित पाया जा रहा था उसे होम आइसोलेशन के लिए कहा जाता था। जो कि संक्रमण को रोकने में प्रभावी साबित नहीं होता था। लेकिन अब इस बार यह भूल नहीं की जाएगी। 
 
 
प्रदेश में इस बार जो भी व्यक्ति संक्रमित मिलेगा उसे होम आइसोलेशन में नहीं रखा जायेगा।  राजधानी भोपाल में संक्रमितों के लिए एम्स और काटजू अस्पताल को तैयार कर लिया गया है।  जितने भी व्यत्कि संक्रमित हैं उन्हें सीधे इन अस्पतालों में भर्ती करके इलाज दिया जा रहा है, ताकि संक्रमण पहले की तरह फेल न सके।  

संक्रमितों को किया जा रहा कॉल 
इस बार जिस किसी व्यक्ति की रिपोर्ट पॉजिटिव आ रही है उसे स्वास्थ विभाग की टीम कॉल कर रही है।  उन्हें हॉस्पिटल में भर्ती कराया जा रहा है।  जिससे स्वस्थ व्यक्ति संक्रमित के संपर्क में आने से बच जायेगे और संक्रमण फैल नहीं पायेगा। 

Add Comment