धोनी से मिली सीख को भारत के खिलाफ अपना मुख्य हथियार बनाएंगे प्रिटोरियस

Lokdesh Desk

 भारत के खिलाफ गुरूवार से शुरू हो रहे टी-20 मैच से पहले दक्षिण अफ्रीका के हरफनमौला खिलाड़ी ड्वेन प्रिटोरियस ने कहा कि उनका उद्देश्य चेन्नई सुपर किंग्स के कप्तान एमएस धोनी के शांत दृष्टिकोण और आत्म-विश्वास को आत्मसात करना है।

ड्वेन प्रिटोरियस ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा, "मैंने धोनी से जो सबसे बड़ी बात सीखी, वह यह है कि वह क्रीज पर काफी शांत हैं और वह खुद पर से दबाव हटाकर गेंदबाज पर डालने की कोशिश करते हैं। वह ज्यादा उत्साहित नहीं होते हैं। वह बहुत आशावादी है। उनका मानना है कि वह कुछ भी कर सकते हैं। मैं कोशिश करने जा रहा हूं और उनकी सीख-किसी भी स्थिति से, कोई भी खेल जीता जा सकता है, को अपने खेल में लाने जा रहा हूं।"

उन्होंने कहा, "एक गेंदबाज के रूप में, आप अभी भी मैच हार सकते हैं यदि आपको अंतिम तीन गेंदों पर 18 रन का बचाव करना है और एक बल्लेबाज के रूप में आप इसे जीत सकते हैं। उन्होंने मुझे एहसास दिलाया कि अंतिम ओवरों में बल्लेबाज अधिक दबाव में नहीं होता, बल्कि गेंदबाज अधिक दबाव में होता है।"

प्रिटोरियस ने 2022 में चेन्नई सुपर किंग्स के लिए इंडियन प्रीमियर लीग में पदार्पण किया, उन्होंने केवल 6 मैच खेले। उन्होंने मुंबई इंडियंस के खिलाफ 157 रनों के लक्ष्य का पीछा करते हुए धोनी के साथ मैच जिताऊ साझेदारी की थी।

प्रिटोरियस ने कहा, "सीएसके फ्रेंचाइजी के बारे में अच्छी बात यह है कि यह बहुत अनुभवी है। हम सभी समझते हैं कि क्रिकेट हमेशा आपके हिसाब से नहीं चलता।" भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच पांच मैचों की टी-20 श्रृंखला का पहला मैच 09 जून को नई दिल्ली के अरुण जेटली स्टेडियम में खेला जाएगा।

Add Comment